अब चीन को ब्रिटेन ने सुनाई खरी-खोटी, साथ ही साथ दे दी हैं ये बड़ी चेतावनी

Uncategorized

ब्रिटेन के विदेश मंत्री ने कहा है कि चीन के हॉन्ग कॉन्ग में नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाने के बाद अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को लेकर उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है. हॉन्ग कॉन्ग ब्रिटेन का उपनिवेश रहा है. जब ब्रिटेन ने 1997 में हॉन्ग कॉन्ग को बीजिंग को दिया था तो उसने इस शहर को कम से कम 2047 तक स्वायत्तता देने की गारंटी ली थी. लेकिन चीन नया सुरक्षा कानून लाकर ब्रिटेन के साथ हुए ऐतिहासिक समझौते का उल्लंघन कर रहा है.

ब्रिटेन ने यह ऐलान चीन के हॉन्ग कॉन्ग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाने के बाद किया था. नए सुरक्षा कानून के तहत, हॉन्ग कॉन्ग पर चीन का नियंत्रण और मजबूत हो जाएगा. पुलिस अब यहां विशेष परिस्थितियों में बिना किसी वारंट के सर्च ऑपरेशन कर सकेगी, संपत्तियों को जब्त कर सकेगी और संचार माध्यमों पर रोक भी लगा सकेगी. हॉन्ग कॉन्ग में केवल शक के आधार पर किसी भी शख्स को चीन प्रत्यर्पित किया जा सकेगा.

राब की ये तीखी टिप्पणी ब्रिटेन में चीनी राजदूत के बयान के बाद आई है. चीनी राजदूत लिउ शियोमिंग ने ब्रिटेन पर हॉन्ग कॉन्ग के मुद्दे को लेकर चीन की आंतरिक राजनीति में दखल देने का आरोप लगाया था. दरअसल, ब्रिटेन ने हॉन्ग कॉन्ग के करीब साढ़े तीन लाख ब्रिटिश पासपोर्टधारकों और करीब 26 लाख अन्य लोगों के लिए ब्रिटेन में पांच साल के लिए बसने का रास्ता खोल दिया है. छह साल पूरे होने पर वे ब्रिटेन की नागरिकता के लिए आवेदन भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *