कश्मीर में सुरक्षाबलों के लिए इजराइल ने भारत भिजवाए सबसे खास हथियार, पत्थरबाजों में मची भगदड़.

दरअसल, कश्मीर और इजराइल के हालात लगभग एक जैसे ही हैं. दोनों ही जगहों पर प्रदर्शनकारी पत्थरबाजी करते हैं और इन्हे भगाने में सुरक्षाबलों को खासी मशक्कत करनी पड़ती है. आइए जानते हैं इजराइल के ऐसे ही कुछ हथियारों के बारे में, जिनका इस्तमाल कश्मीर में किया जाएगा.
पेलेट गन – कश्मीर में हिंसा कर रही भीड़ को भगाने के लिए इजराइल से खरीदी हुई पैलेट गन का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें 5 से 12 तक की रेंज के कारतूस पड़ते हैं. इसमें 5 की रेंज को सबसे तेज और खतरनाक माना जाता है. इन कारतूस में लोहे के छर्रे होते हैं. हर कारतूस में करीब 500 तक छर्रे हो सकते हैं. इसे फायर करने के बाद कारतूस हवा में फूटता है और फिर छर्रे चारों ओर बिखर जाते हैं.
इससे काफी दूर खड़े लोगों को भी नुकसान होता है. पैलेट गन की वजह से कश्मीर में बहुत से लोग अंधे तक हो चुके हैं. यह कहना गलत नहीं होगा कि पैलेट गन इंसान को जिंदा लाश बना सकती है. लेकिन जब प्रदर्शन बहुत अधिक उग्र हो जाता है तो सेना के पास कोई और चारा भी नहीं बचता है. इजराइल में भी इसका इस्तेमाल उग्र भीड़ को भगाने के लिए किया जाता है.

स्कंक – स्कंक का इस्तेमाल इजराइल डिफेंस फोर्स प्रदर्शन कर रही उग्र भीड़ को भगाने के लिए करती है. इजराइल इसे अन्य देशों को भी बेचता है, जिसका इस्तेमाल वहां पर प्रदर्शनकारियों को भगाने के लिए किया जाता है. यह हथियार रबर बुलेट और टीयर गैस जैसे हथियारों से भी अधिक असरदार है. भारत ने इजराइल से यह हथियार खरीदा है. स्कंक हथियार से एक बदबूदार तरल पदार्थ भीड़ पर फेंका जाता है.
इसे बेकिंग पाउडर, यीस्ट और कुछ अन्य चीजों से बनाया जाता है, जो जहरीला नहीं होता है और पूरी तरह से ऑर्गेनिक भी है. इस हथियार का नाम स्कंक नाम के एक जानवर पर पड़ा है, जो खुद को खतरे में देखते हुए अपने बचाव के तौर पर पीले रंग का ऐसा पदार्थ छोड़ता है जिससे खतरनाक बदबू आती है. इस बदबू की वजह से दुश्मन भाग खड़े होते हैं.

द स्क्रीम – यह एक ऐसा हथियार है, जिसका इस्तेमाल इजराइल प्रदर्शनकारियों को भगाने के लिए करता है. द स्क्रीम नाम के इस हथियार से एक तेज आवाज निकलती है, जो लोगों के कानों के लिए बेहद दर्दनाक होती है. इसे सेना की गाडी पर फिट कर दिया जाता है. इस हथियार की खास बात यह है कि इससे जो तेज आवाज निकलती है उससे सीधे किसी खास जगह को टारगेट किया जा सकता है. इसे इजराइल की इलेक्ट्रो-ऑप्टिक्स रिसर्च & डेवलपमेंट लिमिटेड कंपनी ने बनाया है.

स्टन ग्रेनेड्स – स्टन ग्रेनेड इजराइल में इस्तेमाल किए जाने वाले वह हथियार हैं, जिनका इस्तेमाल आंसू गैस के गोलों के साथ खूब किया जाता है. यह एक ग्रेनेड की तरह फटता है, जिससे तेज रोशनी और खतरनाक आवाज होती है. इनका इस्तेमाल लोगों को डराने के लिए किया जाता है.

घाटी में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कब किस तरह के हथियार का प्रयोग करना है, ये तो सीआरपीएफ व् सेना पर ही निर्भर करता है. यदि पेलेट गन से भी पत्थरबाज काबू में नहीं आते, तो सेना उन पर ओपन फायर भी कर सकती है. हांलाकि ऐसा केवल उन परिस्थितियों में किया जाता है, जब हालात काबू से बाहर हो जाएँ.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *