इजरायल से दोबरा स्पाइस 2000 बम खरीदेगा भारत..एयरस्ट्राइक के लिए आते हैं काम

New Delhi :  पुलवामा आ’तंकी हमले के जवाब में भारत की ओर से 26 फरवरी को किए गए बालाकोट एयरस्ट्राइक में जिस स्पाइस ब’म का इस्तेमाल किया गया था, भारतीय सेना अब इसी एडवांस ब’म को इजरायल से खरीदने जा रही है। भारतीय वायुसेना अपने हथियारों को और एडवांस बनाने के मकसद से इजरायल से स्पाइस-2000 ब’म खरीद रही है।

इस ब’म को किसी भी इमारत को ध्वस्त करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से लगाया जा सकता है। इस ब’म का पुराना वर्जन पहले किसी इमारत में भेदने और फिर इमारत के अंदर ध’माका करने में सक्षम था। स्पाइस 2000 का इस्तेमाल भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में छिपे जैश-ए-मोहम्मद के आ’तंकियों को निशाना बनाते हुए उनका खात्मा करने के लिए किया था।

स्पाइस ब’म ने आ’तंकियों के ठिकाने को नष्ट करने के लिए पहले वहां बड़ा होल बनाया, फिर अंदर घुसा जहां खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 26 फरवरी से पहले जैश के करीब 300 आ’तंकी छिपे हुए थे। सूत्रों के अनुसार, इस हमले में बड़ी संख्या में आ’तंकी ढेर हो गए थे और खासा नुकसान भी पहुंचा था।

इसके अलावा भारतीय वायुसेना सुखोई 30 फा’इटर एयरक्रॉफ्ट को भी अपने बेड़े में शामिल करना चाहती है, जिससे सेना की क्षमता में और वृद्धि हो और दुश्मन के साथ हवाई संघर्ष में जोरदार ढंग से मुकाबला कर सके।

स्पाइस 2000 ब’म ने पाकिस्तान में एयरस्ट्राइक के दौरान लक्ष्य पर निशाना साधते हुए पहले एक मीटर तक का गड्ढा बनाया। बाद में सरकार ने दावा किया कि वहां पर बड़े पैमाने में आ’तंकी ठिकानों को नष्ट किया गया है।

स्पाइस अंग्रेजी के SPICE शब्द (Smart, Precise Impact, Cost-Effective) से बना है और इसे इजरायल ने विकसित किया है। स्पाइस ब’म 3 तरह (स्पाइस 1000, स्पाइस 2000 और स्पाइस 250) के हैं। स्पाइस 2000 का वजन 900 किलो का होता है जिसमें आगे के हिस्से में MK-84, BLU-109 और RAP-2000 समेत कई तरह के ब’म लगे होते हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *